Kabira कबीरा Song Lyrics | Atkan Chatkan | Uthara Unnikrishnan


Kabira कबीरा Song Lyrics | Atkan Chatkan | Uthara Unnikrishnan

Kabira is a Latest Bollywood Song form Atkan Chatkan Movie. Lyrics of Kabira Song is given by Sant Kabeer & Shiv Hare and sung by Uthara Unnikrishnan.

Song details:

Song - Kabira 
Movie - Atkan Chatkan
Composer - Drums Shivamani
Singer - Uthara Unnikrishnan
Lyricist - Sant Kabeer & Shiv Hare


Kabira Song Lyrics

Kabira Duniya jhooti hai Jhooti hai  
Kabira Duniya jhooti hai Jhooti hai  


Sachhi dil ki preet Ko dil hare aap na  
Uski hott hai jeet re Uski hott hai jeet re Areee
Sachhi dil ki preet Ko dil hare aap na  
Uski hott hai jeet re Uski hott hai jeet re Areee... 1,2,3,4


Ting dhin ting Ting dhin ting Ting dhin ting ....

Ding dang ding Ding dang ding 
Ding dang ding dang Ding dang ding....


Potthi padh padh jagg mua Pandit bhaye na koe 
Potthi pad pad jagg mua Pandit bhaye na koe 

Dhai akshar prem ka Padhe se Pandit hoye ... 


 Music.............


Haaa .. Hai...... Malik sabka ek hai Sab Uska hi roop  

Aaaa aa aa Malik sabka ek hai Sab Uska hi roop  

Ek si chaon sabko milli  
Sbko Ek si dhoop  
Ek si chaon sabko milli  
Sbko Ek si dhoop 


Prem ke mitthe bol do Ban Jaate hai Geet 

Aaa Aa Aaa.. 

Prem ke mitthe bol do Ban Jaate hai Geet  

Prem bhari ek batt se Bajj Uthhta sangeet  
Prem bhari ek batt se Bajj Uthhta sangeet   

Ding Dang ding Ding Dang ding Ding Dang ding Dang  
Ding Dang ding Dang Ding Ding Dang ding Ding Dang ding 
Ding Dang ding Dang Ding Dang ding Dang Ding .. Maulaaa..


Aaaa ...aaa aaa.. aa.








 कबीरा Hindi Lyrics

कबिरा दुनीया झूटी है झूटी है
कबिरा दुनीया झूटी है झूटी है


सचि दिल के प्रीत को दिल हर कोई ना
उस्कि हुत है जेत रे उस्कि हट है जीट री आरिए
सचि दिल के प्रीत को दिल हर कोई ना
उसक हट है जीट री यूस्की हट है जीट री आरिए ... 1,2,3,4


टिंग ढिंग टिंग टिंग ढिंग टिंग टिंग ढिंग टिंग…।

डिंग डिंग डिंग डिंग डिंग डिंग
डिंग डेंजर डिंग डिंग डिंग डिंग…।


पोथी पध पढ गुड़ गुड़ पंडित भये न कोए
पोथी पड पैड गुड़ गुड़ पंडित भये न कोए

ढाई अक्षर प्रीमियर का पढे से पंडित होये ...


 संगीत .............


हा .. हा …… मलिक सबका ईक है सब उस्का हाय रोप

आआ आ आ आ मलिक सबका एक है सब उस्का हाय रोप

एक सी चों सबको मिलि
सबको एक सी धुप
एक सी चों सबको मिलि
सबको एक सी धुप


प्रेम के मिटे बोल दो बान जात है गीत

आ आ आ आ आ ।।

प्रेम के मिटे बोल दो बान जात है गीत

प्रेम बिहारी इक बात से बजाज उथता संगीत
प्रेम बिहारी इक बात से बजाज उथता संगीत

डिंग डांग डिंग डिंग डांग डिंग डांग डांग डांग
डिंग डांग डिंग डिंग डिंग डिंग डिंग डिंग डांग डिंग
डिंग डांग डांग डांग डिंग डांग डांग डिंग .. मौलाआ ।।


आआआआ… आआआ आआआ .. आआ।