Hum Tum हम तुम Song Lyrics | Sukriti Kakar | Latest Hindi Song 2020


Hum Tum हम तुम Song Lyrics | Sukriti Kakar | Latest Hindi Song 2020

Hum Tum is a Latest Hindi Song sung by Sukriti Kakar & Prakriti Kakar. Lyrics of Hum Tum Song is given by Mellow D. 

Song details:

Song - Hum Tum
Singer - Sukriti Kakar & Prakriti Kakar
Lyrics - Mellow D








Hum Tum Song Lyrics

Yaadon mein tu hai
Haan bas tu hi
Kaise yeh jadoo kiya
Hoon main adhoori
Tu hi zaroori
Bin tere laage na jiya

Nasha sa teri aakhon mein baaton mein
Tu jeene ki wajah,
Maza na in sooni sooni raaton mein
Aaja na yoon na tadpa

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya

Jaun na kabhi tujhe chhod ke sajna
Ek pal ke liye bhi door
Tere sath mujhe hai chalna
Jahan jahan le jaaye tu

Main khoyi khoyi hoon
Na soyi soyi hoon
Jabse tu hai mila
Chhupa kahan tha tu,
Zara bata de tu
Tujhpe rahun main fida

Nasha sa teri aakhon mein baaton mein
Tu jeene ki wajah,
Maza na in sooni sooni raaton mein
Aaja na yoon na tadpa

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya

Kaisi hai yeh betabiyan
Badhne do nazdeekiyan
Tere bina har lamha
Kaise jiyun main tu bata

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya

Tum hum aur hum tum
Ho jaaye kahin ghum mahiya
Main tere bina ghumsum
Na jaane toone aisa kya kiya.







 हम तुम Hindi Lyrics

यादों में तू है
हन बस तू ही
कैसे यह जादू किया
हूँ मैं अधूरी
तू ही ज़रूरी
बिन तेरे लागे ना जिया

नशा सा तेरी आखों में बातों में
तू जीने की वजह,
मज़ा ना इन सूनी सूनी रातों में
आजा ना यून ना तडपा

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया

जौन ना कभी तुझे छ्चोड़ के सजना
एक पल के लिए भी डोर
तेरे साथ मुझे है चलना
जहाँ जहाँ ले जाए तू

मैं खोई खोई हूँ
ना सोई सोई हूँ
जबसे तू है मिला
च्छूपा कहाँ था तू
ज़रा बता दे तू
तुझपे रहूं मैं फिदा

नशा सा तेरी आखों में बातों में
तू जीने की वजह,
मज़ा ना इन सूनी सूनी रातों में
आजा ना यून ना तडपा

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया

कैसी है यह बेताबियाँ
बढ़ने दो नज़दीकियाँ
तेरे बिना हर लम्हा
कैसे जियुं मैं तू बता

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया

तुम हम और हम तुम
हो जाए कहीं घूम माहिया
मैं तेरे बिना घूँसूँ
ना जाने तूने ऐसा क्या किया।