Bus Rona Likha Tha बस रोना लिखा था Song Lyrics | Ramji Gulati New Song Lyrics 2020

Bus Rona Likha Tha रोना लिखा था Song Lyrics | Ramji Gulati New Song Lyrics 2020

Bus Rona Likha Tha बस रोना लिखा था song lyrics is now available, Sung by Ramji Gulati and Lyrics of Bus rona likha tha song is written by Akkhuur and Mooddy.
Song Details
 
Song: Rona Likha Tha
Singer: Ramji Gulati 
Music: Ramji Gulati 
Lyrics: Akkhuur, Mooddy  
 
 

Bus Rona Likha Tha बस रोना लिखा था Song Lyrics 

 
Socha Hi Nahi Tha Tujhe Kho Dunga
Haste Haste Main Bhi Ek Din Ro Dunga
Socha Hi Nahi Tha Tujhe Kho Dunga
Haste Haste Main Bhi Kabhi Ro Dunga
 
Par Mujhko Kya Khabar Thi
Teri Aur Kahi Nazar Thi
In Hathon Ki Lakeeraon Mein
Tera Khona Likha Tha
 
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
Tu Khush Rahe Jahan Bhi Rahe
Main Dil Se Maangu
Duayein Tere Layi
 
Main Zindagi Meri
Naam Kardi Tere
Par Tune Mujhe Bata
Kya Kiya Hai Mere Layi
 
Kaise Mil Jaata Kismat Mein
Jo Na Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
Sab Kehte Hain Tu Na Aayegi
Phir Bhi Main Tera Intezaar Karta Hu
Haan Dil Mera Tune Toda Hai
Phir Bhi Main Tujhse Hi Pyaar Karta Hu
 
Takdeeron Ki Lakeeron Mein
Ye Hona Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
Mere Naseeb Mein Tu Nahi
Bas Rona Likha Tha
 
 

बस रोना लिखा था Song Lyrics In Hindi

 
 
सोचा ही नहीं था तुझको खो दूंगा
हस्ते हस्ते मैं वि इक दिन रो दूंगा
सोचा ही नहीं था तुझको खो दूंगा
हस्ते हस्ते मैं वि इक दिन रो दूंगा
 
पर मुझको क्या खबर थी
तेरी और कही नज़र थी
इन हाथों की लकीरों में
तेरा खोना लिखा था
 
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
तू खुश रहे
जहाँ भी रहे
मैं दिल से मांगू
दुआएं तेरे लयी
 
मैं ज़िन्दगी मेरी
नाम करदी तेरे
पर तूने मुझे बता
क्या किया है मेरे लाए  
 
कैसे मिल जाता क़िस्मत में
जो ना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
सब कहते है तू ना आएँगी
फिर भी मैं तेरा इंतजार करता हूँ
हाँ दिल मेरा तूने तोडा है
फिर भी तुझसे ही प्यार करता हूँ
 
तक़्दीरों की लकीरों में
यह होना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
मेरे नसीब में तू नहीं
बस रोना लिखा था
 
 
 

Leave a Comment